logo
add image

अपहरण के बाद मारपीट कर जंगल में फेंका, पुलिस ने फरियादी को बनाया मुलजिम तो ग्रामीणों ने किया जीरन थाने का घेराव

जीरन/चीताखेड़ा। अपराध के क्षेत्र में बादशाहत कायम करने की फितरत में एक खनन माफिया का आतंक इस कदर बढ़ चुका है कि ग्रामीणों का जीना मुश्किल हो गया है। जीरन थानांतर्गत ग्राम चेनपुरा, गुड़ला, पावड़ा, कल्याणपुरा, जामनगर सहित लगभग आधा दर्जन से अधिक गांवो के रहवासी दहशत में जीने को मजबूर हो रहे है। उस पर चीताखेड़ा पुलिस चौकी के जिम्मेदार पुलिस अधिकारी की सरपरस्ती से इस खनन माफिया के हौंसले बुलंद हो रहे है। शनिवार रात 9 बजे खनन माफिया ने अपने गुंडों के साथ मिलकर जिस तरह से दहशतगर्दी फैलाई उसके बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने रविवार सुबह जीरन थाने पहुंचकर थाने का घेराव कर न्याय की गुहार लगाई। 
दरअसल खनन माफ़िया किशोर पाटीदार मूल रूप से राजस्थान सीमा क्षेत्र में स्थित गांवों से मिट्टी का खनन कर मप्र के ईंट भट्टे संचालको को सप्लाई करता है वहीं मप्र की काली मिट्टी राजस्थान के खेतों में भेजता है। इस काम मे लगे   जेसीबी और ट्रेक्टर ट्राली के स्टाफ को उसके द्वारा खुल्ली गुंडागर्दी करने की छूट दे रखी है। आए दिन किसी न किसी बात ग्रामीणों से विवाद कर मारपीट करने के मामले पुलिस चौकी पर आते है लेकिन चीताखेड़ा पुलिस चौकी के पुलिस अधिकारी ग्रामीणों का पक्ष सुनने के बजाय इस माफिया के पैरोकार बनकर ग्रामीणों को ही हड़का कर या डरा धमका कर उन पर मामला दर्ज कर देते है। 
दो दिन पहले शुक्रवार को चेनपुरा के प्रकाश मीणा ने  मिट्टी के ट्रैक्टर पर कानफोड़ू आवाज में टेप रिकार्ड चलाकर निकल रहे ट्रेक्टर के ड्राइवर को कम आवाज में गाने चलाने की बात कह दी, यह बात खनन माफ़िया के गुंडों को इतना नागवार गुजरा की उन्होंने पहले तो शनिवार को दिन में प्रकाश मीणा परिवार के लोगो को धमकाया और फिर रात को 9 बजे स्कार्पियो में सवार होकर आए और खेत पर रह रहे प्रकाश मीणा को खनन माफ़िया किशोर पाटीदार और उसके गुंडों ने अपहरण कर जंगल की तरफ ले गए और उसके साथ मारपीट की, तभी ग्रामीणों की गाड़ियां आते देख प्रकाश मीणा को जंगल मे ही लहूलुहान हालत में छोड़कर वहा से भाग गए। इतने पर भी इन गुंडों का मन नही माना और चीताखेड़ा चौकी पहुंच कर खुद ही फरियादी बनकर प्रकाश मीणा पर मारपीट का मामला दर्ज करवा दिया। वहीं लहूलुहान हालत में प्रकाश मीणा जब रिपोर्ट दर्ज करने पहुंचे तो उसका मेडिकल करवाने के बजाय उसे अपराधी बनाकर बैठा दिया। रविवार सुबह ग्रामीणों को जब यह जानकारी लगी तो उनका आक्रोश भड़क गया। बड़ी संख्या में ग्राम चेनपुरा सहित आसपास के ग्रामीण जीरन थाने पहुंचे और न्याय की गुहार लगाई। जिस पर थाना प्रभारी मनोज सिंह जादोन ने निष्पक्ष कार्यवाही करने का आश्वासन दिया।

Top